• मंगल. सितम्बर 27th, 2022

15 साल में इस दीपावली आग की घटनाओं संबंधी इमरजेंसी कॉल्‍स की संख्या र​ही सबसे कम

ByJulie

नवम्बर 5, 2021

दमकल सेवा को इस दीपावली पर 152 इमरजेंसी कॉल आए, जो पिछले साल से 25 प्रतिशत कम और पिछले 15 साल में सबसे कम हैं. अकसर दीपावली पर आग लगने की घटनाओं को लेकर आने वाले कॉल की संख्या बढ़ जाती है.

नई दिल्ली: दिल्ली दमकल सेवा को इस दीपावली पर 152 इमरजेंसी कॉल आए, जो पिछले साल से 25 प्रतिशत कम और पिछले 15 साल में सबसे कम हैं. दिल्ली दमकल सेवा (डीएफएस) के निदेशक अतुल गर्ग ने शुक्रवार को बताया कि दीपावली पर आग लगने की कोई बड़ी घटना नहीं हुई, वहीं जो घटनाएं रिपोर्ट हुईं उनमें कोई हताहत नहीं हुआ. दमकल विभाग ने बताया कि अकसर दीपावली पर आग लगने की घटनाओं को लेकर आने वाले कॉल की संख्या बढ़ जाती है. आग लगने के मुख्य कारण पटाखे जलाना, दिए जलाते समय पर्याप्त सावधानियां नहीं बरतना और छोटे-छोटे बल्ब से सजावट करते समय ढीले तारों की जांच नहीं करना और शॉर्ट सर्किट होता है.

गर्ग ने कहा, ‘‘इस साल दीपावली पर आग लगने की घटनाओं संबंधी कॉल की संख्या में कमी आना सकारात्मक संकेत है. यह पहली बार है, जब दीपावली पर केवल 152 इमरजेंसी कॉल आए. यह इस त्योहार पर आए ऐसे कॉल्‍स की पिछले 15 साल में सबसे कम संख्या है.” उन्होंने कहा, ‘‘इसका एक कारण लोगों के बीच जागरुकता है. इस बार पटाखे जलाने से आग लगने संबंधी कॉल की संख्या काफी कम रही और लोगों ने दीपावली मनाते समय सावधानी बरती.”दमकल विभाग के आंकड़ों के अनुसार, उसे दीपावली पर 152 इमरजेंसी कॉल किए गए, जिनमें से 117 कॉल आग लगने की घटनाओं से संबंधित थीं. इनके अलावा 10 कॉल जानवरों और 12 कॉल पक्षियों को बचाने के लिए सहायता मांगने के लिए थीं, एक फोन कॉल मकान ढहने के संबंध में था, सात अन्य कॉल बचाव संबंधी अभियानों के लिए और दो अन्य फोन कॉल में दो सड़क हादसों के बाद सहायता मांगी गई. गर्ग ने बताया कि इस बार आए फोन कॉल की संख्या पिछले साल की तुलना में 25 प्रतिशत कम रही.

दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में बृहस्पतिवार की रात आग लगने की घटना की सूचना दी गई. यह आग रात 10 बजकर 14 मिनट पर मंगोलपुरी की एक फैक्ट्री में लगी और घटनास्थल पर दमकल की आठ गाड़ियां भेजी गईं. उन्होंने बताया कि भूमिगत तल में रखी टाइल, पहली मंजिल पर रखे कृत्रिम फूल और दूसरी मंजिल पर रखी जूता निर्माण सामग्री में आग लग गई. उन्होंने बताया कि इस दौरान कोई हताहत नहीं हुआ. आग बुझाने की प्रक्रिया अपराह्न तीन बजे पूरी हुई और आग लगने के कारण का पता लगाया जा रहा है.